Antarwasnna shayari in Hindi 2021, Antarwasnna Poem Shayari Hindi, Best Antarwasnna Poem

Aantrwasnna Shayari in Hindi

नोट: सावधान ! कृपया पब्लिक एरिया में अपना मां-बाप के साथ Antarwasnna Poem Shayari Hindi और Antarwasnna shayari in Hind नहीं पढ़ना। अगर आप अकेला है और अपना बीवी के साथ में है एक बंद कोठ। में है तो जरूर पढ़ लेना कुछ मजा ही आएगा  आराम से पढ़ सकते हो 😊😜

जब हम बड़े हो जाते हैं हम एक ऐसा उम्र पर गुजर रहते हैं हमारी दिल हमरी अवस्थ हमारी सोच परिपर्तन होना कभी अच्छी कभी बुरा दिन रात  कुछ न कुछ तो सोचताही रेहता हैं मई Antarwasnna Poem Shayari Hindi और Antarwasnna shayari in Hindi आधिक खोजी किया हुवा एक शब्द हैं।

मैंने ऐसा लिखना अच्छी शब्द उच्चारण करना बूरी बाटे तो नहीं हैं। पर ऐसा ही उम्र एक समय पर अधिक इस शब्दों का मांग गूगल पर अधिक सर्च किया गया वर्ड है।

इस Antarwasnna Poem Shayari Hindi और Antarwasnna shayari in Hindi वर्ड, वाक्यको जनता के साथ बैठकर नहीं Married life के बाद अपनी हस्बेंड वाइफ जब साथ पर होतेहै उस समय पर सोचना पढ़ना तो लाइफ बेहतर होगा, कुछ फ़ायदा मन होगा।

चड्डी औऱ चड़नी की बातें (हस्बेंड वाइफका दिलका बातें )

ना ताक़त आप में है ना आपकी हड्डी में है
आप की ताक़त ना तो तन पर, न तो हड्डी में है
वाह! वाह!!…😂😁🤗

आप की ताक़त ना तो तन,  न तो हड्डी में है
ताक़त तो उस पर है, जो बिना हड्डी के साथ , आपकी चड्डी में है🌺🌻😗😛

na taaqat aap mein hai na aapakee haddee mein hai
aap kee taaqat na to tan,  na to haddee mein hai
vaah! vaah!!…

aap kee taaqat na to tan, na to haddee mein hai
taaqat to us par hai, jo bina haddee ke saath , aapakee chaddee mein hai

Antarwasnna Poem Shayari Hindi

एक समय पर ऐसाही पढ़नेको दिल करता हैं हम इंटरनेट पर सर्च करके ऐसा उलटे सीधा Antarwasnna Poem Shayari hindi जैसा धुनते रहते हैं। हलाकि ऐसा देखना पढ़ना अच्छी नहीं हैं फिरभी हम सब एक ब्रह्माण्ड के मानब हैं देखि लेते हैं।

देखना पढ़ना समझना बुरी बात तो नहीं हैं इसको गलत तरीका से प्रयोग नहीं करना एक जानकारी एक संयोग जीवनकी एक हिस्सा समझकर इसको सही सलामत पढ़ना मनोरंजन लेना ।

और उसी वक्त भूल जाना दूसरेको परेशानी हानि करना हम इस Antarwasnna Poem Shayari Hindi शीर्षक पर लिखा हैं।

सो रहा था एक रोज़ लं..ड

रख कर टट्टों पर अपना सिर;
पास से हुआ चूत का गुज़र🙋,

लंड ने देखा उसे उठा कर सिर😩;
लंड ने पूछा जा रही हो किधर👴,

अगर वक़्त हो तो ज़रा आ जा इधर👶;
चूत ने कहा अजी मुझे माफ़ कीजिये👩,

पहले जो मुंह से टपक रहा है उसे साफ़ कीजिये👧;
लंड ने जो यह सुना तो वो गया बिगड़🙉,

फिर जो कुछ न होना था वो हो गया उधर🙊;
चोद कर चूत को लंड सो गया फिर😷;

देख कर यह चूत बोली लंड से चुद जाने के बाद💏;
बात ही नहीं करते जनाब अपना मतलब निकल जाने के बाद💃

antarwasnna poem shayari hindi, antarwasnna poem shayari hindi mai,antarwasnna poem

rakh kar tatton par apana sir;
paas se hua choot ka guzar,
land ne dekha use utha kar sir;
land ne poochha ja rahee ho kidhar,
agar vaqt ho to zara aa ja idhar;
choot ne kaha ajee mujhe maaf keejiye,
pahale jo munh se tapak raha hai use saaf keejiye;
land ne jo yah suna to vo gaya bigad,
phir jo kuchh na hona tha vo ho gaya udhar;
chod kar choot ko land so gaya phir;
dekh kar yah choot bolee land se chud jaane ke baad;
baat hee nahin karate janaab apana matalab nikal jaane ke baad!

Antarwasnna Poem Shayari Hindi

Husband and Wife का बातें खत (चिठ्ठी) पर:

पुराने जमाने में हमारा चाचा पापा पिताजी लोग काम करने के लिए कोई पैसा कमाने के लिए Job करने के लिए एक दूसरे मुलुक पर जाते थे उस वक्त अभी का जैसा मोबाइल का जमाना नहीं था खाट (चिट्ठी) लिखके हाल चाल कैसे हैं किसी का माध्यम से पता कर लेते थे ।

पैसा जॉब के चक्कर पर काफी सालों तक घर वापस लौट के नहीं आते थे सबका अपना-अपना एक मजबूरी था इसी समय पर एक रोमांटिक हनीमून पॉल को याद करके एक खत चिट्ठी लिखता था।

उस जमाने का एक झल के को एक Wife अपना Husband को इसी तरह एक खाट (चिट्ठी) लिखा करतीथी। मैंने इसको Antarwasnna shayari in Hindi, Antarwasnna Poem Shayari Hindi उपर एक एक कविता बनाया है ।

Wife खत लिखती है

antarwasnna poem shayari hindi,antarwasnna poem shayari hindi mai,antarwasnna poem

बहुत लम्बी समय हो चुकी हैं
आपकी यादो से रातको सताती हैं
ना भूख़ ना नींद उस पर दिल जाती हैं
आपको सोचना चाहिए किस हालत पर हैं

bahut lambee samay ho chukee hain
aapakee yaado se raatako sataatee hain
na bhookh na neend us par dil jaatee hain
aapako sochana chaahie kis haalat par hain

रोटी खाने खाने वाला मुंह रोटी खाती है
घास खाने वाला मुंह घास खाती खाती है
घास भी नहीं खाती, रोटी भी नहीं खाती है
वह मुंह क्या खाती? अप की प्रतीक्षा पर है

rotee khaane khaane vaala munh rotee khaatee hai
ghaas khaane vaala munh ghaas khaatee khaatee hai
ghaas bhee nahin khaatee, rotee bhee nahin khaatee hai
vah munh kya khaatee? ap kee prateeksha par hai

इस बात को गहरा दिल से से समझना
जल्दी से लौट के इसकी इच्छा पूरी करना
दूसरे आदमियों को शक मत करना
इस मुंह का भूख जल्दी से मिटाना

is baat ko gahara dil se se samajhana
jaldee se laut ke isakee ichchha pooree karana
doosare aadamiyon ko shak mat karana
is munh ka bhookh jaldee se mitaana

Husband Reply देता है

antarwasnna poem shayari hindi,antarwasnna poem shayari hindi mai,antarwasnna poem

मेरे दिल की रानी जल्दी ही मैं आउंगा
लोहा से भी कड़क बनाकर आऊंगा
लेफ्ट राइट का जंगल फाड़ के रहना
रेडी होकर मेरा प्रतीक्षा करते रहना

mere dil kee raanee jaldee hee main aaunga
loha se bhee kadak banaakar aaoonga
lepht rait ka jangal phaad ke rahana
redee hokar mera prateeksha karate rahana

मैं आ रहा हूं तुम्हें दिन-रात सताना
मैं आ रहा हूं जी भर के खिलाना
भूखी मुंह को संभाल कर रखना
किसी दूसरे इस को मत बताना

main aa raha hoon tumhen din-raat sataana
main aa raha hoon jee bhar ke khilaana
bhookhee munh ko sambhaal kar rakhana
kisee doosare is ko mat bataana

********************

मेरा जनम 12 साल बाद हुआ😙, रंग लायी मेरे चाहने वालों की दुआ😗;
जब मैं बिलकुल चूची थी👯, तब मैं फ्रॉक मैं सोती थी👱;
फिर मेरे आकार का विस्तार हुआ👧, निम्बू बड़ के अनार हुआ🙊;
जब मैं बढ़ने लगी👫, सब की नज़र मुझ पर पड़ने लगी💑;

mera janam 12 saal baad hua, rang laayee mere chaahane vaalon kee dua; jab main bilakul choochee thee, tab main phrok main sotee thee; phir mere aakaar ka vistaar hua, nimboo bad ke anaar hua; jab main badhane lagee, sab kee nazar mujh par padane lagee;

Antarwasnna Poem Shayari Hindi

हुआ     फिर    ब्रा    मेरा    घर,
अब   लगने   लगा   मुझे   डर;

जब   मेरा   साइज़   हुआ  बड़ा,
जाने कितनो का फिर हुआ खड़ा;

भीड़  में  लड़कों   ने  हाथ  मारा,
मुझे एहसास  हुआ बहुत प्यारा;

फिर न जाने कितनो ने दबाया,
सच  कहूं  तो  बड़ा  मज़ा आया;

किसी  ने  प्यार  से   सहलाया,
किसी  को  प्यार  से  चुसवाया;

किसी     ने   मुझे   मसल   दिया,
किसी ने मुझ पर अपना रगड़ दिया;

अब     जब      मैं      गयी    झूल,
सारे      मुझ     को    गए    भूल।

Antarwasnna Poem Shayari Hindi,Antarwasnna shayari in Hindi, Best Antarwasnna Shayari

hua phir bra mera ghar, 
ab lagane laga mujhe dar;

jab mera saiz hua bada, 
jaane kitano ka phir hua khada;

bheed mein ladakon ne haath maara, 
mujhe ehasaas hua bahut pyaara;

phir na jaane kitano ne dabaaya, 
sach kahoon to bada maza aaya;

kisee ne pyaar se sahalaaya, 
kisee ko pyaar se chusavaaya;

kisee ne mujhe masal diya, 
kisee ne mujh par apana ragad diya;

ab jab main gayee jhool, 
saare mujh ko gae bhool.

***********************

गर्लफ्रेंड अपने बॉयफ्रेंड की फटी अंडरवियर देख कर कहा, “तुम देसी चड्डी पहनते हो , ब्रांडेड नहीं?
बॉयफ्रेंड: जात ना पूछो साधू की पूछ लीजिये ज्ञान, मोल करो तलवार का फटी रहन दो म्यान।

garlaphrend apane boyaphrend kee phatee andaraviyar dekh kar kaha, “tum desee chaddee pahanate ho , braanded nahin?
boyaphrend: jaat na poochho saadhoo kee poochh leejiye gyaan, mol karo talavaar ka phatee rahan do myaan.

************************

जैसे फूली हुई रोटी कच्ची नहीं होती;
वैसे ही ब्रा पहनी हुई लड़की कभी बच्ची नहीं होती;
और
जैसे मगरमच्छ के आंसू कभी सच्चे नहीं होते;
वैसे मुंह में लंड देने से बच्चे नहीं होते!

jaise phoolee huee rotee kachchee nahin hotee; vaise hee bra pahanee huee ladakee kabhee bachchee nahin hotee; aur jaise magaramachchh ke aansoo kabhee sachche nahin hote; vaise munh mein land dene se bachche nahin hote!

Antarwasnna shayari in Hindi, Antarwasnna Poem Shayari Hindi, antarwasnna poem shayari hindi mai, antarwasnna poem, antarwasnna poem hindi, antarwasnna poem shayari hindi story, antarwasnna poem shayari hindi me, antarwasnna poem shayari

गम में भी हमको जीना आता है;
सेक्स करके भी पसीना आता है;
एक हम हैं कि तुम्हें अक्सर मैसेज करते हैं;
एक तुम्हारा मैसेज है, जैसे औरतों को महीना आता है!

gam mein bhee hamako jeena aata hai;
seks karake bhee paseena aata hai;
ek ham hain ki tumhen aksar maisej karate hain;
ek tumhaara maisej hai, jaise auraton ko maheena aata hai!

Antarwasnna shayari in Hindi, Antarwasnna Poem Shayari Hindi, antarwasnna poem shayari hindi mai, antarwasnna poem, antarwasnna poem hindi, antarwasnna poem shayari hindi story, antarwasnna poem shayari hindi me, antarwasnna poem shayari

रात होगी तो कंडोम भी दुहाई देगा;
टांगो के बीच सारा जहां दिखाई देगा;
ये काम है जानी, जरा संभलकर करना;
एक कतरा भी गिरा तो 9 महीने बाद सुनाई देगा।

rata hogee to kandom bhee duhaee dega;
taango ke beech saara jahaan dikhaee dega;
ye kaam hai jaanee, jara sambhalakar karana;
ek katara bhee gira to 9 maheene baad sunaee dega.

**********************

ज़माने से नहीं तन्हाई से डरती हूँ
प्यार से नहीं रुसवाई से डरती हूँ
मिलने का दिल तो बहुत होता है
लेकिन मिलने क बाद Chhuuddaai से डरती हूँ

Jamane Se Nahi Tanhaai Se Darti Hun
Pyaar Se Nahi Rusvaai Se Darti Hun
Milne Ka Dil To Bahut Hota Hai
Lekin Milne Ke Baad Chhuuddai Se Darti Hun

Antarwasnna  shayari

हम वो आशिक हैं जो सुबह को शाम बना देते हैं
छोटी–छोटी मौसमीयों को आम बना देते हैं
हम से पंगा न ले ओ छोरी हम तो वो हैं जो
छोटी सी दूकान का भी गोदाम बना देते हैं

Antarwasnna shayari in Hindi

Hun Vo Aashiq Hai Jo Subha Ko Shaam Bana Dete Hai
Choti-Choti Mosambio Ko Aam Bana Dete Hai
Hum Se Panga Naa Le Oo Chori Hum To Vo Hai Jo
Choti Si Dukaan Ko Bhi Godaam Bana Dete Hai

***********************

कुंवारी लड़की ना Chooddiye, Chhoodd के करे घमंड
Chuuddi-Chhuuddaayi Chhooddiye जो लपक के लेवे L@Nd
Kuwaari Ladki Naa Chhooddiye, Chhoodd Ke Kare Ghamand
Chhuuddi-Chhuddayi Chhooddiye Jo Lapak Leve L@Nd

ऐसी लोंड़िया Chhoodsiye, L@Nd भी आपा खोये
जो औरो से Chhuuddi ना हो , बीवी वो ही होये

Aisi Laundiya Chhooddiye, L@Nd Bhi Aapa Khove
Jo Auro Se Chhuuddai Naa Ho, Bivi Vo Hi Hoye

अपना अपन मजबूरी – Antarwasnna  shayari

किसी को पैग मार के नींद आती है

किसी को Muuttha मार के

अपना तो किस्मत ही खराब है

शौचालय हाथों में हिला के 🙊🙈

Kisi Ko Peg Maar Ke Neend Aati Hai

Kisi Ko Muutthha Maar Ke

aapna to kismati kharab hai

bathrma me hatho se hilake

Antarwasnna shayari in Hindi, Antarwasnna Poem Shayari Hindi, antarwasnna poem shayari hindi mai, antarwasnna poem, antarwasnna poem hindi, antarwasnna poem shayari hindi story, antarwasnna poem shayari hindi me, antarwasnna poem shayari

इश्क मुहब्बत क्या है मुझे नहीं मालूम

सच्ची में उसका अंदर कैसे हैं नहीं मालूम

बस उसकी याद आती है और खड़ा हो जाता है

मेरे में कितना दाम है वह तुझे क्या मालूम 😎

Ishq Mohabbat Kya Hai Mujhe Nahi Maloom

sachchi mai uska Undar keya hain nahi malum

Bas Uski Yaad Aati Hai Aur Khada Ho Jaata Hai

mere mai kitana dam hai tujhko keya malum

Antarwasnna Poem Shayari Hindi : आपके लिए एक चैलेंज है अगर आप इन शायरियों को पढ़ लेते हैं और आपका खड़ा नहीं होता तो या तो आपका उसमें पूरा कंट्रोल है ।

या फिर आपका खड़ा नहीं होता इस चैलेंज का रिजल्ट कमेंट में दीजिए फिर भी हम ऐसा ही शायरी आपके लिए लेकर जरूर आएगा 👍

Bollywood: Movie review, Movie news जानकारीके लिए इस लिंक पर क्लीक करे- Click Here

5 thoughts on “Antarwasnna shayari in Hindi 2021, Antarwasnna Poem Shayari Hindi, Best Antarwasnna Poem”

Leave a Comment